मतदाता सूची पुनरीक्षण में गंभीरता से काम करें कलेक्टर लक्ष्य निर्धारित कर जोड़ें मतदाताओं को बीएलओ, सुपरवाइजर को कलेक्टर के निर्देश

ग्वालियर 10 जनवरी 2019
लोकसभा निर्वाचन-2019 के लिये मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम किया जा रहा है। जिसमें 25 जनवरी तक दावे-आपत्ति ली जा रही हैं। नए मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में जोड़े जा रहे हैं, वहीं अपात्र लोगों के नाम सूची से हटाए जायेंगे। इस काम में सभी बीएलओ व सुपरवाइजर की भूमिका बहुत अहम है। बीएलओ व सुपरवाइजर अपने-अपने क्षेत्र में पात्र मतदाताओं को खोजें और उनके नाम मतदाता सूची में जोड़ें। यह निर्देश कलेक्टर श्री भरत यादव ने दिए हैं और कहा है कि 25 जनवरी तक लक्ष्य निर्धारित कर काम में जुट जाएं और इसका परिणाम दिखना चाहिए।
गुरूवार को डॉ. भगवत सहाय सभागार में आयोजित हुई बीएलओ, सुपरवाइजर की बैठक में कलेक्टर श्री यादव ने मतदाता सूची पुनरीक्षण के संबंध में तत्परता से काम करने के निर्देश दिए। बैठक में विधानसभा क्षेत्र-14, 15 एवं तहसील क्षेत्र घाटीगाँव के बीएलओ सुपरवाइजर उपस्थित थे। इस अवसर पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री राघवेन्द्र पाण्डेय, एसडीएम मुरार श्री नरोत्तम भार्गव, एसडीएम ग्वालियर सिटी श्री के के गौर, एसडीएम घाटीगाँव श्री अग्निहोत्री भी उपस्थित थे।
कलेक्टर श्री यादव ने कहा है कि जिनके द्वारा विधानसभा निर्वाचन के दौरान अच्छा काम किया गया है और अभी भी पूरी लगन से मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम किया जायेगा, उन्हें राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी को सम्मानित किया जायेगा और काम में लापरवाही करने वाले के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई भी होगी। इसलिये काम में कोई ढ़िलाई न हो। विधानसभावार मतदाताओं की संख्या में वृद्धि दिखना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रति विधानसभा में लगभग 20 हजार नए मतदाताओं के नाम जुड़ सकते हैं। इसमें 10 हजार नए युवा मतदाता और 10 हजार अन्य मतदाता के रूप में लक्षित किए जा सकते हैं।
उन्होंने कहा है कि महिला मतदाताओं की संख्या जो अभी कम है, उसको बढ़ाने के लिये प्रयास होना चाहिए। ताकि जिले का जेण्डर रेशो एवं ईपी रेशो दोनों में सुधार हो। यह तभी संभव है, जब बीएलओ मतदान केन्द्र पर बैठें और लोगों से संपर्क करें। इसके अतिरिक्त युवा मतदाताओं के नाम सूची में जोड़ना है। इसमें एक जनवरी 2019 को 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुके युवाओं के नाम जोड़े जायेंगे। इसके लिये कॉलेजों में विशेष कैम्प लगाकर काम किया जा सकता है। साथ ही अपात्र मतदाता के नाम सूची से हटाना है, जिसमें मृत व  स्थांतरित मतदाताओं के नाम देखना है। उन्होंने कहा कि मतदान का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है सही मतदाता सूची का होना। इसलिये 25 जनवरी तक पूरी लगन से मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम करना है।
Top