जनपद कन्नौज में हिंदुस्तान होटल में होता है जिस्म फरोशी का काला कारोबार होटल मालिक को मिल रहा पुलिस प्रशासन का संरक्षण

हरदोई के पत्रकार संदीप त्रिवेदी को विगत कुछ दिनों पहले जनपद कन्नौज में स्थित हिंदुस्तान होटल जोकि अनुज मिश्रा ऑर्फ गांधी का है उसमें खाना बनाने के उपयोग के लिए घरेलू सिलेंडरों का इस्तेमाल किया जा रहा था जिसकी सूचना उत्तर पत्रकार संदीप त्रिवेदी को सूत्रों से ज्ञात हुई जिसके बाद पत्रकार ने पूरे मामले की छानबीन शुरू कर दी छानबीन में हिंदुस्तान होटल में जिस्मफरोशी का काला कारोबार होने की भी सूचना मिली जिसको लेकर उक्त पत्रकार ने जनपद कन्नौज के पुलिस अधीक्षक को उपरोक्त मामले की जानकारी दी जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ने तत्काल कन्नौज सदर कोतवाली के कोतवाल को मौके पर पहुंचने के आदेश दिए लेकिन यहां तो मामला कुछ और ही था* ।
कोतवाल साहब ने चंद पैसों की खातिर अपना ईमान ही बेच दिया क्योंकि हिंदुस्तान होटल में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं जिसमें सारा वाक्य कैद होता है लेकिन जब कोतवाल साहब को पुलिस अधीक्षक का निर्देश आया तो कोतवाल साहब ने अनुज मिश्रा और गांधी को उपरोक्त मामले की जानकारी दे दी जिसके बाद अनुज मिश्रा और गांधी ने सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग में उस समय की रिकॉर्डिंग काट दी जब उसके होटल में कुछ जिस्मफरोशी का कारोबार करने वाली महिलाओं का आना जाना था जब उपरोक्त पत्रकार ने इस पर कोतवाल से सवाल जवाब किया तो कोतवाल का कहना है हिंदुस्तान होटल की सीसीटीवी रिकॉर्डिंग में ऐसा कोई भी वाक्य नहीं है जिसमें यह साबित होता है कि उस होटल में स्त्रियों का आना जाना है अन्य पुरुषों के साथ इसी बात को लेकर पत्रकार ने कहा आप सीसीटीवी को एक बार फिर से खंगाले उस समय की रिकॉर्डिंग डिलीट क्यों है जिस वक्त पुलिस अधीक्षक महोदय को सूचना दी गई थी कि महिलाएं होटल में रुकी हुई है जो कि गलत कामों में विलुप्त है लेकिन कोतवाल साहब ने पत्रकार की एक ना सुनी और अपनी मित्रता का धर्म निभाते हुए अनुज मिश्रा गांधी का पूरा सहयोग किया जिसके बाद उपरोक्त पत्रकार ने इसकी शिकायत आई जी आर एस पर की जब पत्रकार ने आइजीआरएस पर उपरोक्त मामले की शिकायत की तो पत्रकार को हिंदुस्तान होटल के मालिक अनुज मिश्रा और गांधी ने मां बहन की भद्दी भद्दी गालियां देते हुए जान से मारने की धमकी तक दे डाली जिसके बाद पीड़ित पत्रकार ने उपरोक्त रिकॉर्डिंग को जनपद हरदोई पुलिस अधीक्षक महोदय के बाबू  को सुनाएं सबसे बड़ी बात तो यह है कि जब पीड़ित पत्रकार पुलिस अधीक्षक के पास तहरीर लेकर गया उस दौरान हिंदुस्तान होटल के मालिक अनुज मिश्रा और गांधी का फोन दोबारा पत्रकार को धमकाने के लिए आ गया जिसको पत्रकार ने रिकॉर्डिंग पर लगाकर पुलिस अधीक्षक के बाबू को फोन पकड़ा दिया तो फिर क्या था पुलिस अधीक्षक के बाबू ने सारा वाकया खुद ही अपने कानों से सुन लिया और पुलिस अधीक्षक ने हिंदुस्तान होटल के मालिक अनुज मिश्रा उर्फ गांधी पर कानूनी कार्रवाई करने का आश्वासन भी पीड़ित पत्रकार संदीप त्रिवेदी को दिया जिसको लेकर हरदोई जिले में पत्रकारों में आक्रोश भी व्याप्त है पत्रकारों की मांग है कि जल्द से जल्द ऐसे गलत काम करने वाले होटल को बन्द किया जाना चाहिए और होटल के मालिक अनुज मिश्रा और गांधी के विरुद्ध पत्रकार को धमकाने एवं जान से मारने की धमकी देने के संबंध में कानूनी कार्यवाही भी की जानी चाहिए अगर ऐसा ना हुआ तो पीड़ित पत्रकार को अगर न्याय नहीं मिला तो जनपद हरदोई के समस्त पत्रकार सड़क पर उतरकर आंदोलन करने को मजबूर होंगे अब देखना यह है कि आखिर कब तक अनुज मिश्रा और गांधी के हिंदुस्तान होटल को सीज किया जाएगा य चंद पैसों की खातिर खाकी फिर से अपना ईमान बेच देगी |
Top