अब तो चुनाव लड़ने के लिए आरोपी भी आ रहे है आगे !…

भोपाल। विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर व्यापमं घोटाले का आरोपी डॉ जगदीश सगर चुनाव मैदान में उतर सकता है। इसको लेकर बसपा नेताओं की सागर से मुलाकात हो चुकी है। टिकट का फैसला लखनऊ से होना है। व्यापमं काण्ड को लेकर विरोधी पार्टी अब तक भाजपा को घेरती आई हैं, ऐसे में व्यापमं आरोपी चुनाव लड़ता है तो पार्टी को नुक्सान भी झेलना पड़ सकता है| चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस के बाद बसपा ही तीसरी बड़ी पार्टी है, जिसका कई सीटों पर दबदबा है, और बसपा बीजेपी कांग्रेस के गधों में सेंध लगाने की तैयारी भी कर रही है|

बीएसपी सूत्रों की मानें तो प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से 3-4 नाम स्क्रूटनी कमेटी के पास पहुंचे हैं। कमेटी इन दिनों इन नामों में से प्रत्याशियों के चयन में जुटी है। इसी बीच व्यापमं कांड के आरोपी जगदीश सागर की कमेटी के सदस्यों से मुलाकात ने सरगर्मियां बढ़ा दी हैं। बसपा नेता यह तो स्वीकार कर रहे हैं कि सागर ने मुलाकात की है, लेकिन टिकट को लेकर कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं। कुछ नेता सगर को गोहद से टिकट देने की वकालत कर रहे हैं, लेकिन अधिकांश नेताओं का मानना है कि इससे पार्टी को नुकसान होगा। क्योंकि पार्टी के लिए विधानसभा चुनाव में व्यापमं कांड भी प्रमुख मुद्दा होगा। इसलिए यदि जगदीश सागर को टिकट दिया तो इस मुद्दे को छोडऩा होगा। बसपा सुप्रीमो को हाल ही में एक सूची भेजी गई है। टिकट पर अंतिम फैसला वही से होगा|

मप्र में आठ सभाएं करेंगी माया,चंबल पर रहेगा फोकस

बीजेपी और कांग्रेस के अलावा बहुजन समाज पार्टी का भी विशेष फोकस ग्वालियर चंबल अंचल की 34 विधानसभा सीटों पर है। क्योंकि यहां पर कई सीटों पर बसपा प्रत्याशियों ने विरोधी दलों को कड़ी टक्कर दी है। जिस कारण बसपा नेता मानकर चल रहे हैं कि यदि मेहनत की जाए तो इन सीटों पर जीत हासिल की जा सकती है। इसलिए प्रथम चरण में प्रदेश में होने वाली बसपा सुप्रीमो मायावती की आठ सभाओं में दो सभा मुरैना और दतिया में रखी गई हैं। 2 अप्रैल को एससी-एसटी एक्ट में संसोधन को लेकर भारत बंद के दौरान हुए उपद्रव के दौरान अंचल में 8 लोगों की मौत हुई थी। जिसमें अधिकांश एससी-एसटी वर्ग के थे। उस दौरान पार्टी ने यहां पर विशेष रूप से फोकस किया था, लोगों से मुलाकात कर आर्थिक सहायता की भी व्यवस्था कराई थी। इसलिए पार्टी को इस बार यहां से बेहतर नतीजे आने की उम्मीद भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Top